Monday , April 22 2024

MP: इंदौर में ही उगाया जाएगा दक्षिण भारत का औषधीय लाल चंदन

Indore News: नवरत्न बाग स्थित वन विभाग की नर्सरी में 25,000 बीज रोपकर शुरू किया प्रयोग।

इंदौर। लाल चंदन यानी ‘ब्लड सैंडलवुड’। दो साल पहले आई फिल्म पुष्पा जिन्होंने देखी होगी, उन्होंने लाल चंदन के बेशकीमती होने के तथ्य को जाना ही होगा। यह चंदन बेशकीमती होने के साथ-साथ त्वचा रोग, पेट रोग और स्त्री रोगों में औषधि के रूप में काम करता है। अब यह चंदन इंदौर में भी मिलने की संभावना बन रही है। दरअसल, वन विभाग में शहर स्थित नवरत्न बाग में वन विभाग की नर्सरी में विभाग ने लाल चंदन के 25,000 बीज रोप कर प्रयोग किया है। अब तक लाल चंदन केवल दक्षिण भारत में ही पाया जाता है, किंतु अब इसे इंदौर में भी उगाया जा रहा है। बता दें कि लाल चंदन की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में काफी रहती है।

वन मंडलाधिकारी अधिकारी (डीएफओ) महेंद्र सिंह सोलंकी ने कहा कि हम लोग लाल चंदन के बीज को नागपुर से लाए और रोप दिया है। जुलाई तक इनके पौधे बनने की संभावना है। अगर यह प्रयोग सफल हुआ, तो शहर की कृषि में कई संभावनाएं खुल जाएंगी। जब गुजरात का नारियल इंदौर में उग सकता है, तो हमारा पूरा प्रयास रहेगा कि दक्षिण भारत का लाल चंदन भी यहां की धरती पर उपजे।

डीएफओ ने बताया कि लाल चंदन की खेती के लिए विशिष्ट परिस्थितियों की आवश्यकता होती है, जैसे शुष्क और गर्म जलवायु, पीएच 4.5 से 6.5 वाली अच्छी उपजाऊ मिट्टी। लाल चंदन अत्यधिक विनियमित लकड़ी है, जिसका रंग लाल होता है और इसमें औषधीय गुण होते हैं। लाल चंदन के खेत को ठीक से तैयार करने के बाद मई और जून के बीच रोपण किया जाता है।

 

About admin

हमारी समाचार वेबसाइट आपको ताज़ा और विश्वसनीय समाचार प्रदान करती है। हम राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खबरों के साथ-साथ विज्ञान, व्यापार, मनोरंजन, खेल और तकनीकी खबरें भी प्रकाशित करते हैं। आपको अपडेट और जानकारी भरी दुनिया में रखने में हमें विश्वास करें।

Check Also

इंदौर: बेलेश्वर बावड़ी हादसे में दो आरोपी गिरफ्तार

बेलेश्वर मंदिर में पिछले साल रामनवमी पर हवन कराया गया। इसके लिए वह स्थान चुना …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *